Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दुबई में
03-01-2019, 11:26 AM,
#51
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
यासिर से ये फरमाइश करते ही मैने विनोद को हाथ से धक्का दे कर पास पड़े हुए सोफे पर गिरा दिया. और खुद आगे को झुकते हुए विनोद के तने हुए सख़्त लंड को अपने मुँह में डाला. और फिर से “शारप शारप” करते हुए अपने नये शौहर के लंड की चुसाइ लगाने लगी थी.

विनोद के लंड को चुसते वक्त इस तरह झुकने से पीछे से मेरी गान्ड हवा में उठ गई. 

“ओह आज से पहले ना जाने कितनी दफ़ा मैने अपने हाथों की उंगलियो के साथ छेड़ छाड़ करते हुए तुम्हारी चूत को अपने लंड के लिए तैयार किया है, मगर आज पहली बार में अपनी ही बीवी की चूत को चाट चाट कर इसे एक दूसरे मर्द के लौडे के लिए तैयार करूँगा आआआआआ” में ज्यों ही ये बात कहते हुए सोफे पर नीम दराज लेटे हुए विनोद के लंड को सक करने में मसरूफ़ हुई. 



तो मेरी बात सुनते ही यासिर एक फर्माबरदार शौहर की तरह मेरी बात पर अमल करते हुए मेरे पीछे आ कर हवा में उठी हुई मेरी गान्ड की चौड़ी पहाड़ियों को पीछे से अपने एक हाथ में दबोचते हुए अपने दूसरे हाथ को मेरी फूली हुई चूत के होंठों के दरमियाँ रखा.और इस के साथ ही पानी पानी होती मेरी फुद्दि के साथ अपने हाथ के अंगूठे से खेलने लगा था. 

मेरी चूत के दाने को अपने अंगूठे से सहलाते सहलाते यासिर ने पीछे से ज्यों ही अपने हाथ ही दो उंगलियाँ मेरी गरम और प्यासी चूत के सूराख में दाखिल कीं. तो मज़े की शिद्दत से मैने तड़पते हुए में अपने दाँत अपने आगे पड़े नये शौहर विनोद के तने हुए लौडे के उपर गाढ दिए.

“उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ लगता है कि मेरे लौडे को चुसते चुसते आज तो तुम मेरे लंड को जैसे काट कर पूरा खा ही जाओगी सायराआआआ” ज्यों ही मैने जोश में आते हुए विनोद के लंड पर अपने दाँतों से काटा. तो मेरी तरह मज़े की शिद्दत से बे हाल होते हुए विनोद भी चिल्ला उठा. 

इधर में जोश और मस्ती से बे काबू होते हुए विनोद के मोटे अनकट लंड को दीवाना वार चूसने में मसरूफ़ थी.

तो दूसरी तार यासिर की मोटी उंगलियाँ मेरी चूत के अंदर अपना कम जारी रखे हुए थे. 

जिस की वजह से में मेरी चूत का नम्कीम पानी मेरी फुद्दि से बैठे हुए मेरी गुदाज रानों के दरमियाँ से होते हुए नीचे फर्श को भी गीला करने में मसरूफ़ था.

“ओह तूमम्म कितने अच्छे और समझदार शौहर हो यासिर, जो अपनी बीवी की खुशी के लिए आज सब कुछ करने को तैयार हो चुको हो, चलूऊऊऊओ जल्दी करूऊऊ और मेरी फुद्दि में ज़ुबान डाल कर इसे विनोद के मोटे लौडे के लिए मज़ीद गरम कर दो, ताकि जब विनोद तुम्हारी बीवी की इस फुद्दि में अपना लंड डाले, तो उस का मोटा,लंबा और सख़्त लंड बिना किसी दिक्कत के मेरी चूत की बच्चे दानी तक जा पहुँचे मेरी ज़ाआाआ” यासिर की बात और फिर अपनी चूत की गहराई में फिरने वाली अपने पहले शौहर की उंगलियों की मस्तियों से बे हाल होते हुए मैने यासिर से कहा. और इस के साथ ही में जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार के मुकमल नंगी हो गई.

जब यासिर ने यूँ मुझे अपना लहंगा उतार कर अपनी और विनोद की नज़रों के सामने नंगा होते देखा. 

तो यासिर को भी एक दम जोश आया और मेरी देखा देखी वो भी सपने सारे कपड़े उतार कर आज पहली बार अपने दोस्त और मेरे नये शौहर विनोद की नज़रों के सामने पूरे का पूरा नंगा हो गया था.



अपने कपड़े उतार के में एक बार फिर सोफे पर बैठे अपने नये शौहर विनोद की तरफ मतवूज हुई. और फिर विनोद के जिस्म के उपर झुकते हुए विनोद के मुँह में अपना मुँह डाल कर विनोद को किस करने लगी.

जब कि इस दौरान मेरे पहले शौहर यासिर ने मेरी गान्ड की पहाड़ियों में अपने मुँह को डाल कर पीछे से निकली हुई मेरी चूत को अपनी ज़ुबान और मुँह से सक करना शुरू कर दिया.

थोड़ी देर पीछे से मेरी चूत की फांको को अपनी ज़ुबान से चोदने के बाद यासिर ने मेरी चूत से अपना मुँह हटाया और मुझ से कहने लगा “ज़ाआाआआआं अब अगर तुम ज़रा सीधी हो कर लेटो तो में सही तरीके से तुम्हारी चूत को चाट कर विनोद की चुदाई के लिए रेडी कर दूं”.

“हां ये सही रहे गा, क्यों कि इस तरह से तुम नीचे से मेरी चूत को चाटो गे, तो उपर से मुझे अपने जानू विनोद के लंड की पूजा करने का सही मोका मॉयसर हो सके गाआआआआआ” यासिर की बात सुनते ही करवट बदल कर में सीधी हुई. और सोफे पर बैठे विनोद के शेष नाग लंड को एक बार फिर अपने मुँह में भर लिया.



जब कि मेरा पहला शौहर यासिर ने मेरी टाँगों के दरमियाँ फर्श पर बैठ कर मेरी खुली टाँगों के दरमियाँ में से मेरी फूली हुई चूत पर अपने गरम मुँह को चिस्पान कर दिया.
[url=/>
-  - 
Reply

03-01-2019, 11:26 AM,
#52
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
मेरी चूत से मुँह लगते ही यासिर ने मेरी चूत के दोनो लबों को अपनी नोकिली ज़ुबान की नौक से खोला.

और फिर मेरी चूत के ऐन दरमियाँ अपनी ज़ुबान को डाल कर मेरी फुद्दि से निकलने वाले रस को अमृत समझ कर पीने में मसगूल हो गया.

“उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ खााआआआ जऊऊऊऊ मेरी चूत्त्त्त्त्त्त्त को यासीर्र्र्र्र्ररर और्र्र्र्र्ररर इसे चाट चातत्तटटटटतत्त कर विनोद के लंड के इस्त्कबाल के लिए तैयाररर्र्र्ररर करूऊऊऊऊऊ मेरी जनाआाआआं” यासिर की ज़ुबान ने ज्यों ही मेरी चूत के गुलाबी सूराख खोलते हुए मेरी चूत के अंदर के पिंक एरिया को चूमा. तो मज़े के मारे में सिसक उठी.

यासिर अब दीवाना वार मेरी चूत को अपने मुँह और ज़ुबान से चाटने और खाने में मसरूफ़ था. 

कि इतने में मुझे और यासिर को विनोद की आवाज़ सुनाई दी. “चलो अब हम लोग सुहाग के बिस्तर पर चलते हैं और उधर जा कर यासिर तुम अब सायरा की टाँगों को अपने हाथ से मेरे लिए खोलना,ताकि में तुम्हारी और अपनी बीवी सायरा की चूत के पानी का ज़ायक़ा एक बार फिर चख लून्न्न्न्न्न्न्न”.

“ओह जेसा विनोद कह रहा है तुम वैसा ही करूऊऊऊऊओ,और आज खुद अपनी जवान बीवी की टाँगों को अपने हाथों से खोल कर अपने दोस्त को मेरी चूत पेश करो,इस तरह मुझे किसी और मर्द के साथ शेर करने की तुम्हारी ख्वाहिश की अच्छी तरह से तकमील हो सके गी यासीर्र्र्र्र्ररर”विनोद की ये बात सुनते ही मैने अपने हिंदू शौहर के मोटे सख़्त लंड को अपने हाथ में थामते हुए यासिर से कहा. 

और फिर अपने पूराने शौहर यासिर के मुँह से अपना मुँह जोड़ कर विनोद के अनकट लंड से निकलने वाले उस के लंड के नम्कीम पानी को यासिर के मुँह में मुन्तकल करने लगी थी.

“ये आज तुम्हारे थूक का ज़ायक़ा थोड़ा पुख्तलफ क्यूँ है सायरा” विनोद के लंड के पानी से मिक्स होने वाले मेरे थूक को अपने हलक के अंदर उतारते हुए यासिर ने सवाल किया.

“ओह येह्ह्ह्ह्ह्ह्ह कोई आम थूक नही, बल्कि इस थूक में आज तुम्हारे दोस्त और मेरे शौहर विनोद के सख़्त लंड का लैस दार पानी भी मौजूद है,जो इस से पहले तुम मेरी चूत में से चाट कर खा चुके हो, मगर आज में तुम्हें विनोद के लंड का वही पानी अपने मुँह के ज़रिए पिला रही हूँ मेरी जान” यासिर से ये बात कहते हुए मैने एक बार फिर अपना मुँह मज़बूती के साथ यासिर के मुँह से जोड़ दिया. 



तो यासिर बेशर्मी के साथ मेरे मुँह के अंदर अपनी ज़ुबान घुमाते हुए मेरे थूक को बेताबी से अपने मुँह में ट्रान्स्फर करने लगा था.

कुछ देर बाद हम तीनो सोफे से उठे तो मैने विनोद के सारे कपड़े अपने हाथ से उतार कर अपने नये शौहर को खुद पहली बार अपने हाथों से मुकमल नंगा किया. 

और फिर हम सब इकट्ठे ही विनोद और मेरी सुहाग रात के लिए सजाई गई सुहाग की सेज पर आ गये.

अपने सुहाग के बिस्तर पर आते ही यासिर मुझ से पहले ही मेरे बिस्तर पर जा कर बैठा.

तो उस के पीछे पीछे मैं भी अपने बिस्तर पर चढ़ कर अपने पहले शौहर यासिर की गोद अपना सर रख कर लेट गई.

यासिर की गोद में लेटते ही मेरे पहले शौहर यासिर ने मेरी गुदाज और लंबी टाँगों को अपने हाथों से खोलते हुए अपनी पाकिस्तानी बीवी की जवान, प्यासी और गरम मुस्लिम चूत को मेरे नये हिंदू शौहर विनोद के मुँह के लिए पूरे का पूरा खोल दिया और बोला” लूऊऊऊओ चाआआआआट लो मेरी और अपनी जवान बीवी की मस्त चूत को दोस्त, जो तुम्हारे मोटे अनकट लंड के इंतिज़ार में पानी पानी हो रही है विनोद्द्द्द्द्द्द्द्द”.

यासिर की गोद में इस स्टाइल में लेटने से मेरी फूली हुई चूत और भी ज़्यादा उभर आई थी, और मेरी फुद्दि का मुँह ऐसे खुल गया जैसे बरसों से विनोद के लंड की भूकि हो.

“उफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ सायराआआआआआअ की इस चूत की तलब ने तो मुझे इतना पागल कर दिया है कि में चूत का पानी तो क्या, अपनी बीवी की चूत से निकलने वाले पेशाब को भी पीने को तैयार हूऊओन यासीर्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर” 



ये बात कहते हुए विनोद ने गौर से मेरी चूत के खुले मुँह को देखा. 

और फिर अचानक विनोद ने एक दम अपने गरम मुँह को मेरी तपती चूत के होंठों पर रखा और अपनी ज़ुबान से मेरी चूत के फूले हुए होंठों को चाटने लगा था. 

“उफफफफफफफफफफफफ्फ़ क्या जबर्जस्त नसीब हैं मेरे, कि मेरा असली शौहर मेरी टाँगों को अपने हाथों से चौड़ा करते हुए मेरी चूत को एक और मर्द के मज़े के लिए पेश कर रहा है” यासिर के हाथों की मेहरबानी से खुली मेरी टाँगों के दरमियाँ बैठ कर विनोद ने ज्यों ही मेरी प्यासी चूत पर अपने गरम होंठों को रखा.तो मेरे दिल में ये ख्याल आया. 



और विनोद की गरम और नोकिली ज़ुबान आज एक बार फिर मेरी गरम और मुलायम फुद्दि से टकराते ही मज़े की शिद्दत से अपनी भारी और कसी हुई जवान चुचियों को अपने दोनो हाथों से दबाते हुए में में चिल्ला उठी “ओह विनोद्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द”

“उम्म्म्ममममममममममममम तुम्हारी चूत्त्त्त्त्त्त्त्त्त्त्त से तो पानी ऐसे निकल रहा है जैसे चूत नही कोई अब्शर हो मेरिइईईईईईईई ज़ाआाआआअँ सायराआआआआआ” मेरे शौहर यासिर की मदद से मज़ीद चौड़ी होने वाली मेरी खुली टाँगों के दरमियाँ अपने मुँह और ज़ुबान को आज़ादी से मेरी फुद्दि की गहराई में फेरते हुए विनोद ने जब मुझे ये बात कही तो मेरे सबर का दामन मेरे हाथ से छूट गया. और एक झटके के साथ मैने अपनी चूत का नमकीन पानी अपने नये शौहर विनोद के खुले मुँह में उडेल दिया.

“ओह विनोद अब मुझ से और सबर नही हो रहा ,आओ और मेरी चूत में एक बार फिर अपना ये मस्त अनकट लौडा डाल कर मेरी चूत की धज्जियाँ उड़ाओ, और मेरे साथ अपनी सुहाग रात मना कर मुझे अपनी असली बीवी बना लूऊऊऊऊऊ मेरे राजा.” 



अपनी टाँगों के दरमियाँ झुक कर मेरी चूत में से बहते पानी को अपनी ज़ुबान से चाटते हुए विनोद के मुँह पर तेज़ी के साथ अपनी चूत मारते हुए में सिसकार रही थी.

और विनोद ने मेरी चूत से निकलने वाले पानी की एक भी बूँद को ज़मीन पर नही गिरने नही दिया. बल्कि उस ने मेरी चूत का सारा पानी शरप शर्प कर अपने मुँह में ही चाट कर खा गया था.

मुझे यूँ अपने हिंदू लंड के लिए तड़प्ते देख कर विनोद ने मेरी टाँगों के दरमियाँ में से उठा. 

तो मैने देखा कि विनोद का पूरा मुँह मेरी चूत में से बहने वाले नमकीन पानी से भीग गया था.

मेरी चूत को चाटने के बाद अपने मोटे, लंबे, सख़्त,जवान लौडे को अपने हाथ से मसलता हुए विनोद मुझे एक बार फिर से चोदने के लिए मेरी चूत के नज़दीक होने लगा था.

“विनोद तुम्हारा लंड अपनी चूत में लेने से पहले में एक बात तुम्हें बताना चाहती हूँ मेरी जान” विनोद को अपनी खुली टाँगों के दरमियाँ में से यूँ अपने मोटे लंड की मूठ लगाता देख कर मैने सिसकारते हुए कहा.

“हान्ंनननणणन् कहो मेरी जान क्या कहना चाहती हो तूमम्म्ममममम” मेरी गरम चूत के होंठो को अपने लंड के लिए खुलते और बंद होते देख कर विनोद ने अपने होंठों पर अपनी ज़ुबान फेरते हुए मुझ से पूछा.

“उफफफफफफफफफफ्फ़ तुम जानते हो कि दुनिया की तकरीबन सारी औरतें शादी के बाद ही अपने शौहर के बच्चे की माँ बनती हैं, मगर में शायद इस दुनिया की वहीद औरत हूँ, जो शादी से पहले ही अपने शौहर के बच्चे को अपने पेट में पाल रही हूँ विनोद” विनोद की गरम निगाहों को अपनी प्यासी चूत के उपर फिरते देख कर मैने सिस्कार्ते हुए अपनी चूत पर हाथ फेरा. और बे शरमाई के साथ विनोद से ये बात की दी.

“ओह तो तुम मुझ से सुहाग रात मनाने से पहले ही यासिर के बच्चे की माँ बन चुकी हो क्या” मेरी बात को सुन कर विनोद को समझ नही आया. और वो हैरत से मेरा मुँह देखते हुए मुझ से पूछने लगा.
[url=/>
-  - 
Reply
03-01-2019, 11:27 AM,
#53
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
“हान्ंनननननननणणन् में माँ तो बनने वाली हूँ, मगर मेरे पेट में पलने वाला इस बच्चे का बाप यासिर नही बल्कि तुम हो विनोद्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द” विनोद की बात के जवाब में मुस्कुराते हुए जब मैने अपने नये शौहर विनोद को ये बात बताई. तो खुशी और हैरत के मारे विनोद का मुँह एक दम खुला का खुला ही रह गया.

“ओह इतनी बड़ी बात तुम ने मुझ से अब तक क्यों छुपाई रखिईीईईईईईई सायराआआआआआअ” मेरी बात के ख़तम होते ही विनोद एक दम मेरे बहुत नज़दीक आया. और अपने तने हुए लंड को मेरी मुलायम चूत के गीले होंठों पर फेरते हुए कहने लगा.

“तुम जानते हो कि सुहाग रात को शौहर ही हमेशा अपनी बीवी को मुँह दिखाई की रसम में कोई चीज़ तोहफे में देते है, मगर इस दफ़ा अपनी सुहाग रात को ये खबर सुना कर, में तुम्हें चूत चुदाई का ये तोहफा देना चाहती थी मेरी जान” विनोद के अनकट लंड के टोपे की रगड़ को अपनी चूत के मोटे छोले पर महसूस करते हुए में सिसकारते हुए जवाब दिया.

“ओह मुझे अपनी जान के पेट में पालने वाले इस तोहफे को कबूल करते हुए बहुत ही मूसरत हो रही है, चलूऊऊऊओ इसी खुशी में तुम्हारी चूत को एक बार फिर चोद कर में तुम्हारी कोख में पलने वाले अपने बच्चे की पैदाइश को ज़केनी बना दूं मेरी जान” ये बात कहते हुए विनोद ने मेरी चूत के फूले हुए लिप्स को अपने हाथ से खोला. ताकि वो एक बार फिर अपने मोटे लंड को मेरी चूत में डाल कर अपने और मेरे जवान जिस्म की जिन्सी भूक मिटा सके.

“रूको ज़रा,आज तुम नही बल्कि यासिर खुद तुम्हारे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर मेरी चूत में डाले गा विनोद” अपनी चूत के खुले मुँह पर विनोद के लहराते हुए लंड को देखते हुए मैने अपने असल शौहर यासिर की तरफ देखा. और यासिर को विनोद का लंड अपनी चूत में डालने का इशारा किया.

“मैने तुम्हारे कहने के मुताबिक तुम्हारी चूत को चाट कर विनोद के लंड के लिए तैयार तो कर दिया है,मगर विनोद के लंड को अपने हाथ से पकड़ कर तुम्हारी फुददी में डालने का काम मुझ से नही हो पाएगा सायराआआआआ” मेरी बात सुन कर यासिर ने झिझकते हुए मुझे जवाब दिया.

“इतना सब कुछ हो जाने के बावजूद ना जाने तुम्हे शरम क्यों आ रही है मेरी जान, तुम्हें अपनी बीवी को किसी और मर्द से चुदवाने का शौक है ना, तो चलो अब शरमाना छोड़ो और अपने हाथ से अपने दोस्त का लंड अपनी जवान बीवी की प्यासी चूत में डाल कर मेरी तपती फुद्दि की गरमी को ठंडा करने के साथ अपने इस शौक को भी पूरा कर लो यासिर” यासिर की बात के जवाब में ये कहते हुए मैने अपने शौहर यासिर के हाथ को पकड़ कर विनोद के तने हुए मोटे लौडे पर रख दिया.

“उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ देखूऊऊऊऊ तुम्हारी बीवी की फुद्दि के लिए मेरा लंड कितना सख़्त हो रहा है दोस्त, इस से पहले कि मेरा ये लंड फूल कर फट जाए, इसे अपनी बीवी की गरम और टाइट चूत में डाल भी दो ना यासीर्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर” यासिर के हाथ की गिरफ़्त को अपने लोहे जैसे सख़्त लंड पर महसूस करते ही मेरी तरह विनोद भी सिसकार उठा.

“ओह हान्ंनणणन् तुम दोनो सही कह रहे हो,सायरा की चूत को किसी और मर्द के लंड के लिए खुलता देखने की मेरी बहुत ख्वाहिश है, और अब जब कि तुम से अपनी प्रमोशन लेने की खातिर में एक बार अपनी बीवी को तुम से चुदवा ही चुका हूँ, तो फिर अपने हाथ से अपनी बीवी की प्यासी चूत में तुम्हारे इस लंड को डालने में कोई हर्ज नही, जिस लंड के लिए मेरी बीवी की चूत पिछले एक महीने से पानी छोड़ छोड़ कर बे हाल हो रही है” मेरी और विनोद की बातों के जवाब में यासिर ने भी आख़िर हार मानते हुए कहा. 



और इस के साथ उस ने अपने दोस्त और मेरे नये शौहर विनोद का मोटा,ताज़ा,गरम लंड अपने हाथ से पकड़ कर मेरी तंदूर जैसी गरम चूत के अंदर दाखिल कर दिया.

“ आआआअहह, ऊऊऊहह.” विनोद का बड़ा सख़्त और मज़बूत लौडे की चमड़ी वाला टोपा जेसे ही मेरी चूत के दाने से टकराता हुआ मेरी तंग चूत में एक बार फिर दाखिल हुआ. 

तो विनोद के इस अनकट लौडे की लज़्जत को महसूस कर के पैरों से ले कर सर तक एक मस्ती की सिहरन मेरे पूरे वजूद में छाती चली गई.

हालाकी यासिर की प्रमोशन की खातिर विनोद से एक बार चुदवाने के बाद मैने अपने दिल में ये इरादा कर लिया था. कि अब कभी विनोद को अपने करीब आने का मोका नही दूँगी.

मगर हक़ीकत ये थी. कि विनोद से एक बार चुदने के बाद मैने पिछले एक महीने में ना जाने कितनी दफ़ा उस के लौडे को याद कर के अपनी चूत की आग को अपने हाथों से ठंडा करने की नाकाम कोशिश की थी.

विनोद के मोटे सख़्त और जवान लंड का ये ही वो स्वाद और ये ही वो मज़ा था. जिस की तलब ने मुझे पिछले एक महीने से पागल बना रखा था.

और जिसे आज अपनी चूत में एक बार फिर से लेने के बाद मेरी चूत में लगी आग ठंडा होने की बजाय मज़ीद भड़क चुकी थी.
“ओह कैसाआआआआअ लगा है मेरी जान को विनोद का ये सख़्त लंडन्न्नन्न्नन्नन्न्न्न सायराआआआआआआअ” विनोद के अनकट लौडे को मेरी तंग चूत में डालते ही यासिर ने एक दम मुझ से पूछा.

“ ओह क्या बताऊ,विनोद्द्द्द्द्द का लौडा तुम्हारे लंड से बहुत ज़्यादा मोटा और सख़्त हह हाईईईई, सच बात ये है कि मेरे दिल ने तो तुम से प्यार किया है, मगर मेरी चूत अब विनोद के लंड की आशिक़ बन चुकी है, वैसे भी अब मेरी छोड़ो,तुम बताओ कि अपनी नज़रों के सामने एक और मर्द का मोटा,ताज़ा जवान लंड को अपनी जवान बीवी की गरम चूत में जाते देख कर तुम्हें कैसा महसूस हो रहा है मेरी जान” यासिर ने ज्यों ही विनोद के मोटे लंबे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर मेरी पानी छोड़ती चूत के मुँह पर रख कर मेरी फुद्दि के अंदर डाला. तो मज़े से सिसकते हुए में अपने असली शौहर के सर पर अपना हाथ रख कर यासिर के मुँह को अपनी चूत में जाते हुए विनोद के बड़े और सख़्त लंड के नज़दीक किया. और फिर अपने शौहर यासिर से पूछने लगी.

“उफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ मैने आज तक वाइफ शेरिंग वाली जितनी भी स्टोरीस राजशर्मास्टॉरीजडॉटकॉम पर पढ़ी, या इस तरह की पॉर्न मूवीस देखी हैं, उन सब को पढ़ने या देखने में मुझे वो मज़ा नही मिला,जो मज़ा मुझे विनोद के लंड को अपने हाथ से तुम्हारी चूत में डालने और फिर तुम्हारी चूत को विनोद के लंड के लिए खुलता देख कर मिला है, और इस मज़े की वजह से लगता है कि मेरा लंड जेसे फॅट ही जाए गा” 



मेरी फुद्दि के ऐन उपर झुक कर मेरी चूत में दाखिल होते हुए विनोद के शेष नाग लंड पर अपनी नज़रें घुमाते हुए यासिर ने मुझ से कहा. 



“उफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ मुझे तो यकीन ही नही हो रहा कि विनोद्द्द का इतना बड़ा और मॉटााअ लौडा तुम्हारी इस मासूम सी चूत में घुस भी पाएगा मेरी ज़ाआाआअँ” मेरी चूत के अंदर फिसलते हुए मेरे नये शौहर के गधे जेसे लंड पर बदस्तूर अपनी नज़रें जमाए यासिर ने मुझ से सवाल किया.

और इस के साथ ही विनोद के सामने खुली हुई मेरी टाँगों में से हट कर बिस्तर पर पड़े हुए मेरे जिस्म के ऐन पीछे आ कर बैठ गया.

“ओह ,हाईईईईईईई विनोद्द तुम्हारी तरह कोई अनाड़ी नही बल्कि औरतों के मामले में एक माहिर खिलाड़ी है, जो बहुत अच्छी तरह जानता है कि किसी औरत को चोदने से पहले उसे गरम केसे किया जाता है, वैसे भी विनोद का ये लंड शायद दुनिया के सब से बड़े लौडो में से एक है, और इतना लंबा और मोटा लौडा करोड़ों औरतों में किसी एक औरत ही को ही नसीब होता हो गा,इस लहाज़ से में सच मूच बहुत ही खुश किस्मत औरत हूँ कि जिस की चूत विनोद के इस सख़्त, मज़बूत और ताक़त वर लौडे को अपनी चूत में ले रही हूँ, मुझे ऐसे लगता है कि मेरी ये चूत्त्त्त्त्त्त्त शायाद्द्दद्ड विनोद्द्द्द्द्द्द के लंड के लिए है बनी है यासीर्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर” मैने विनोद के सख़्त अनकट लौडे के गिर्द अपनी चूत के मसल कसते हुए अपने शौहर यासिर से कहा.

“ओह तुम्हारी चूत में जाते हुए विनोद के लंड की पच पच ने तो मुझे पागल कर दिया है,और ज़ोर और मज़े से खुल कर अपनी चूत को विनोद के लंड से चुदवाओ मेरी बेगम सायराआा ज़ाआआआं” मेरी मुस्लिम चूत के अंदर बाहर होते विनोद के अनकट हिंदू लौडे को मेरे पीछे बिस्तर पर बैठ कर देखते हुए यासिर ने मुझ से कहा. 

“ देखना चाहते हो कि एक असल मर्द अपनी बीवी की चूत की कैसी खातिर करता हाईईईईईईईईईईईईईईईईईईई,तो देख लो मेरी चूत की गहराई में फिसलते हुए मेरे नये शौहर विनोद के इस अनकट लौडे को यासिर, जिस के लंड की चमड़ी ने तुम्हारी मुस्लिम बीवी की चूत को अपना इतना गेर्वेदा बना लिया है, कि अब तुम्हारे जीते जी में इस हिंदू लौडे की रखैल बन चुकी हूँ यासीर्र्र्र्र्ररर”
[url=/>
-  - 
Reply
03-01-2019, 11:27 AM,
#54
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
विनोद के मोटे लंड के सामने अपनी टांगे पूरी तरह से खोलते हुए मैने अपने पीछे लेटे यासिर की गर्दन में अपना एक हाथ डाला. और अपने असल शौहर को अपनी चूत के होंठों में फँसे हुए विनोद के सख़्त और जवान लंड का दीदार करवाने लगी.

“ओह हाआआआआआअँ चोदूऊऊऊऊओ मेरी बीवी की गरम चूत को, और मेरी बीवी की प्यासी चूत में अपने अनकट लौडे का पानी भर कर, मेरी मुस्लिम बीवी की कोख में पलने वाले अपने हिंदू बच्चे की पैदाइश को यकीनी बना दूऊऊऊऊऊओ विनोद्द्द्द्द्द्द्द” मेरी बातों और मेरे मोटे चुतड़ों पर पड़ने वाली विनोद के मोटे टट्टों की थॅप थॅप से महज़ूज़ होते हुए यासिर ने मेरे कान के उपर किस करते हुए विनोद से कहा. तो अपने शौहर की बातों और यासिर की की गई हरकत से में भी सिस्कार्ने लगी थी. 

“हाईईईईईईईईईईईई तुम्हारी बीवी की इस शादी शुदा चूत को चोदने में ही मुझे इतना मज़ा आ रहा है, यासिर काश अगर मुझे तुम्हारी असल सुहाग रात को सायरा की कंवारी चूत की सील खोलने का मोका मिल जाता, तो तुम्हारी बीवी की चूत की सील अपने लौडे से खोल कर में तो मज़े से पागल ही हो जाता मेरे दोस्त” ये कहते हुए विनोद ने मेरे पीछे बैठ कर अपनी बीवी को एक गैर मर्द का लौडा एंजाय करते देख कर अपने लौडे की मूठ लगाते मेरे शौहर यासिर की तरफ देखते हुए आँख मारी. और मज़े के साथ मुझे चोदने में मसरूफ़ हो गया. 

विनोद मेरी फुद्दि में लंड डालने के बाद मेरी चूत को हल्के हल्के धक्कों से चोदने में मसरूफ़ था. और इस दौरान विनोद ने अभी तक अपना पूरा लौडा मेरी फुद्दि में नही डाला था. 

मेरी चूत अपनी जिन्सी हवस के साथ साथ यासिर और विनोद की छेड़ छाड़ की वजह से पहले ही पानी पानी हो रही थी. और उपर से रही सही कसर अब मेरी चूत में गया हुआ विनोद का सख़्त और मज़बूत लंड निकाल रहा था.

अभी में विनोद के अपनी चूत में घुसे हुए आधे लंड के मज़े से बे हाल हो रही थी. कि इतने में विनोद ने अचानक ही एक ज़ोर दार धक्का लगा कर अपना लंड मेरी चूत में घुसा दिया. 

“ आाऐययईईई,आआअहह,ऊऊऊओह,ओह फाड़ डालूऊऊऊ गे क्या मेरी फुद्दीईईइ को, ऊिइ,सच मुच फॅट जाईययययी गी मेरी चूत्त्त्त्त्त विनोद्द्द्द्द,” इस धक्के के साथ ही विनोद का पूरे का पूरा लौडा जड़ तक मेरी चूत में समा गया था. 

अब अपनी चूत में निकलते हुए विनोद के लौडे को अपनी फुद्दि में महसूस कर के मुझे ये अहसास होने लगा था. कि जेसे अब मेरी चूत मेरी मे और जगह नहीं है.

विनोद अब पूरी ताक़त से मेरी मासूम सी चूत को चोदने में मसरूफ़ हो चुका था. 

मुझे चोदने के दौरान विनोद का मोटा लंड तो मेरी चूत की दीवारों को एक तेज धार चाकू की मनिद उपर से खोलते हुए मेरी फुद्दि में दाखिल हो रहा था.

जब कि विनोद के ज़ूस से भरे मोटे टटटे नीचे से मेरी गान्ड से टकरा रहे थे.

विनोद के ज़ोर दार और जबर्जस्त धक्कों की वजह से मेरी भारी चुचियों के दरमियाँ पड़ा हुआ मंगल सूत्र भी अब मेरे बड़े और मोटे मम्मो के साथ इधर उधर उछल रहा था.

विनोद के हर धक्के पर उस का लंबा लंड अब जड़ तक मेरी फुद्दि में धंसता हुआ चला जा रहा था. 

और अपने नये शौहर के इतने बड़े और मोटे लंड को अपनी चूत में यूँ आसानी से समाता हुआ देख कर मुझे तो यकीन ही नही हो रहा था. कि मेरी चूत विनोद का इतना बड़ा लंड भी अपने अंदर ले सकती है. 

कहते है कि जब तक मर्द का पूरा लौडा चूत में ना जाए तब तक चुदाई का मज़ा नही आता. 

बिल्कुल कुछ ऐसी ही हालत अब विनोद के मोटे ताज़े सख़्त और जवान लंड को अपनी चूत में पूरा लेने के बाद हो रही थी कि अब विनोद के इन लंबे और मोटे लंड से मुझे अपनी चूत भरी भरी और मुकमल सी महसूस हो रही थी. 

और ये ही वो केफियत थी जो यासिर के लंड को लेते वक्त आज तक मुझे नसीब नही हुई थी. 

इसी लिए मेने अपनी टाँगें खूब चौड़ी कर रखी थी. ताकि विनोद को लंड पूरा अंदर पेलने में कोई रुकावट ना हो.



विनोद ने मेरी भारी चुचियों को अपने दोनो हाथों में पकड़ कर अपनी पूरी ताक़त से मेरी फुद्दि में धक्के मारने शुरू कर दिए थे. और उस के जवाब में अब में भी अपने भारी चूतड़ उचका उचका कर विनोद के धक्कों का जवाब दे रही थी. 

विनोद अपना लौडा मेरी चूत से पूरा निकाल कर मेरी फुद्दि में अब जड़ तक पेल रहा था.

जिस की वजह से विनोद के भारी टटटे मेरी गुदाज और भारी गान्ड से टकरा रहे थे. 

विनोद की इस जबर्जस्त चुदाई की वजह से मेरी ऊट इतना ज़्यादा रस छोड़ रही थी. कि विनोद के हर धक्के के साथ मेरी चूत में से फ़च,फ़च ,फ़च,फ़च और मेरे मुँह से आआहहाआह,आआआआऐययईईई आआआहह ऊओो उम्म्म की मधुर सिसकियाँ निकल कर पूरे कमरे के माहौल को रंगीन बनाने में मसरूफ़ थी. 

अपनी बीवी की प्यासी चूत पर पड़ने वाले किसी गैर मर्द के धक्कों और अपनी बीवी के चुतड़ों पर पड़ने वाले टट्टों की आवाज़ों के साथ साथ किसी और मर्द से अपनी चूत की जिन्सी भूक को मिटाते हुए फूटने वाली सिसकियों को सुन कर मेरे पीछे बैठा मेरा असल शौहर यासिर के जोश में भी इज़ाफ़ा होता जा रहा था. 

और ये ही वजह थी कि मेरी चूत की चुदाई को देखते और मेरी गरम सिसकियों को सुनते हुए विनोद के धक्कों के साथ साथ यासिर के हाथ भी अब तेज़ी के साथ उस के लौडे पर फिसलते हुए अपनी मूठ लागने में मसरूफ़ थे.



फिर इसी तरह की धुआधार चुदाई के कुछ देर बाद ही विनोद ने मेरी चूत मे एक आख़िरी धक्का मारा. और इस के साथ ही मेरी बच्चे दानी को एक बार फिर अपने लंड के लैस दार पानी से भर दिया.

“ उफफफफफफफफफफ्फ़ एक शादी शुदा औरत होते हुए, आज मैने अपने असल शौहर की नज़रों के सामने ही अपना सब कुछ विनोद के मस्त अनकट लौडे पर निछावर कर दिया है” अपनी चूत की गहराइयों में विनोद के मोटे लंड से निकलने वाले गरम वीर्य को जज़ब होते महसूस कर के मेरे दिल में ये ख्याल आया. और इस के साथ ही मेरे जिस्म को एक झटका लगा तो मेरी चूत ने भी अपना गरम पानी विनोद के मोटे लौडे के उपर छोड़ दिया.

मेरी चूत की आखरी तह में एक बार फिर अपने लंड का पानी छोड़ने के थोड़ी देर बाद विनोद ने अपने मोटे लौडे को मेरी चूत में से निकाला .तो उस के मोटे सख़्त लंड से निकलने वाले गरम पानी की काफ़ी बूँदें चूत के साथ साथ मेरे पेट पर भी जा गिरीं.

विनोद के पानी छोड़ते लंड के मेरी फुद्दि से बाहर आते ही मैने अपनी चूत के पानी से भीगे हुए विनोद के मोटे लौडे को अपने हाथ में जकड लिया.



“ओह देखूऊऊऊओ एक गैर मर्द ने तुम्हारी बीवी की बच्चे दानी में अपने लंड का बीज डाल कर तुम्हारी बीवी को अपने बच्चे की माँ बना दिया है यासिर” विनोद के लंड को अपने हाथ में पकड़ कर अपनी तपती चूत के उपर रगड़ते हुए मैने अपने शौहर यासिर की तरह देखते हुए कहा. जो मेरे पास ही बिस्तर पर लेट कर अपनी बिखरी सांसो को संभालने में मसरूफ़ था.

“उफफफफफफफफफफफफफ्फ़ हाईईईईईईई जो मज़ा तुम्हारी चूत को विनोद के लंड से मिला है,वो मज़ा में वाकई ही आज तक तुम्हें देने से कसीर रहा हूँ, इसीलिए आज के बाद दुनिया की नज़र में तो में तुम्हारा शौहर हूँ गा, मगर घर के अंदर तुम विनोद की बीवी की हैसियत से इसी कमरे में रहा करो गी,और विनोद ही एक शौहर की हैसियत से तुम्हारी चूत की प्यास बुझाया करे गा सायरा” 
[url=/>
-  - 
Reply
03-01-2019, 11:27 AM,
#55
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
विनोद के मोटे अनकट लौडे को मेरी चूत के बाहर और पेट पर अपना रस छोड़ते हुए देख कर यासिर ने अपनी ज़ुबान को अपने होंठों पर मारते हुए मुझ से कहा.

मेरी फुद्दि को अच्छी तरह से अपने लंड के गरम पानी से भरने के बाद विनोद मेरे बराबर ही बिस्तर पर आ लेटा. 

तो यासिर एक दम से बिस्तर से उठ कर मेरी खुली हुई टाँगों के दरमियाँ लेट कर अपनी बीवी की अभी अभी चुदि हुई जवान चूत का नज़ारा करने लगा था.

जिस में से विनोद के लंड का छोड़ा हुए गाढ़ा सफेद पानी आशिस्ता आहिस्ता बह कर मेरे चुतड़ों को भिगोता हुआ नीचे बिछि मेरी सुहाग की सफेद चादर को गीला करने में मसरूफ़ था.

मेरी चूत में से निकलने वाले विनोद के लंड के पानी को देखते हुए ना जाने यासिर को एक दम क्या हुआ. कि उसने अचानक मेरी खुली टाँगों के दरमियाँ झुकते हुए मेरी चूत के फूले हुए होंठों के दरमियाँ अपना मुँह रखा. और फिर मेरी चूत के खुले हुए होंठों के दरमियाँ में से विनोद के लंड का सफेद वीर्य अपनी ज़ुबान से चाटने लगा था.

“आआआः ये क्या कर रहे हो,उफफफफफ्फ़ मत करूऊओ ऐसे मेरी जान यासिर” अपने शौहर के मुँह को विनोद के लंड से भरी हुई चूत में से ताज़ा ताज़ा छोड़े थिक वीर्य को चाटते हुए देख कर मैने मज़े से बेसूध होते हुए अपने शौहर को कहा.

हालाकी आज से कुछ अरसा पहले मैने खुद विनोद के लंड से रात भर चुदि हुई अपनी चूत को अपने शौहर यासिर से सॉफ करवा कर अपने शौहर को विनोद का लंड के पानी से रोशनास करवाया था.

मगर इस के बावजूद आज विनोद की नज़रों के ऐन सामने मुझे यासिर का अपनी चूत से बहते विनोद के लंड के पानी को चाटते हुए देख कर शरम सी महसूस होने लगी थी.

इस से पहले कि में यासिर को मज़ीद आगे बढ़ने से रोकती या अपनी चूत के होंठों पर चिस्पान यासिर के मुँह को हटाने में कामयाब होती. कि मेरी चूत के फूले हुए लिप्स में अपनी ज़ुबान घुमाते हुए यासिर ने कहा “ उफफफफफफफफफफफ्फ़ मुझे खुद ही मेरे दोस्त विनॉद्द्द्द्द्दद्ड के लंड के पानी का चस्का लगा कर अब खुद ही मुझे इस मज़े से महरूम करना चाहती हो तुम, मुझे यूँ रोक कर मुझ पर ज़ुल्म तो ना करो ,यकीन जानो तुम्हारी चूत में छोड़े गये विनोद के इस मज़े दार पानी को चाटने में जो मज़ा मुझे मिलता है, वो मज़ा में लफ़ज़ो में बयान करने से कसीर हूँ, इसीलिए आज अपनी चूत में छोड़े गये विनोद के इस गाढ़े पानी को खा जाने दो मुझे सायरा”ये कहते हुए यासिर ने मेरी चूत के दोनो लबों को अपनी ज़ुबान की नौक से खोलते हुए अपनी ज़ुबान को मेरी चूत के सूराख के अंदर दाखिल कर दिया. 

“अच्छाआआआआ अगर तुम्हें वाकई ही मेरी चूत में छोड़े गये विनोद के लंड के गरम पानी को खाने का इतना ही शौक है,तो खा जऊऊऊऊओ अपनी बीवी की चूत में मौजूद अपने दोस्त के पानी को,जो तुम्हारे दोस्त के लंड से प्रेग्नेंट हो चुकी है मेरी जाअन” ज्यों ही यासिर की लंबी लाल ज़ुबान मेरी चूत के अंदर दाखिल हुई. तो मज़े के मारे मेरे जिस्म को एक झटका सा लगा. 



इस के साथ ही मैने अपने शौहर यासिर के बालों को अपने हाथ में थामा.और अपनी गान्ड को बिस्तर से उपर उठा उठा कर अपनी चूत को अपने शौहर के खुले मुँह पर मारती हुई विनोद के लंड के पानी को अपने शौहर यासिर के मुँह में खाली करने लगी थी.

“हाईईईईईईईईईईईईई में सदक़े में जाऊ अपनी बीवी की चूत में से किसी और मर्द का वीर्य खाने वाले अपने शौहर पर, हाईईईईईईई काश मेरी तरह हर पाकिस्तानी बीवी को ऐसा ही शौहर नसीब हो,जो ना सिर्फ़ अपनी बीवी की चुदाई के लिए किसी और मर्द के लंड का बंदोबस्त करे ,बल्कि फिर दूसरे लंड से चुदि हुई अपनी बीवी की फुद्दि को अपनी ज़ुबान से सॉफ कर के अपनी बीवी की चूत की चुदाई का मज़ा भी दुबारा करे”



लज़्जत के माहौल में अपने मुँह से इसी तरह की बहकी बहकी बातें निकालते हुए अब में यासिर का सर अपने दोनो हाथों में थाम कर अपने शौहर के मुँह पर अपनी चूत को रगड़ने में मसरूफ़ हो गई थी.
[url=/>
-  - 
Reply
03-01-2019, 11:27 AM,
#56
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
अब कमरे में ये हालत थी. कि एक तरफ मेरा शौहर यासिर अपने दोस्त विनोद के अनकट हिंदू लंड से निकले हुए नमकीन पानी को मेरी मुस्लिम चूत में से चाट चाट कर ख़ाते हुए मेरी चूत को अच्छी तरह से सॉफ कर के पाकीज़ा करने में मसरूफ़ था. 



जब कि दूसरी तरह अपने शौहर यासिर की इस दीवाना वार चटाइ की वजह से मेरे जिस्म में एक अजीब सी हलचल मची हुई थी.

इसी दौरान तीसरी तरफ मेरे पहलू में लेटा हुआ मेरा इंडियन ठोकू अपने दोस्त यासिर को अपनी बीवी की चूत से उस का वीर्य ख़ाते देख कर हैरान होते हुए अपने मोटे लंड को हाथ में पकड़ कर अपनी मूठ लगाने में मसरूफ़ था. 

इसी दौरान ही जब कुछ देर बाद में अपने उपर काबू ना रख पाई तो मेरी चूत ने एक बार फिर अपना पानी छोड़ दिया.

मेरी चूत से निकलने वाला ये पानी विनोद के लंड के पानी से मिक्स हो कर मज़ीद नमकीन हो गया.

फिर मेरी चूत का ये नमककेन पानी मेरी फुद्दि से निकल कर मेरे बाहर को उमड़ा. और मेरी टाँगों के दरमियाँ झुक कर मेरी चूत से अपने मुँह जोड़े मेरे प्यारे शौहर यासिर के मुँह में गिर कर मेरे शौहर के प्यासे मुँह को भरने लगा था.

“उफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ मेरे लंड के छोड़े हुए पानी को इतनी दीवानगी से अपनी बीवी की चूत से चाट कर तुम ने ये साबित कर दिया है , कि तुम्हें वाकई ही अपनी बीवी से बहुत ही ज़्यादा मुहब्बत है,और इस मुहब्बत की खातिर तुम कुछ भी कर सकते हो यासिर” अपने दोस्त यासिर को मेरी फुद्दि में से निकलने वाले मिक्स पानी को यूँ मज़े से चाटते देख कर विनोद ने अपने लंड को अपने हाथों से मसल्ते हुए कहा. 

थोड़ी देर मेरी चूत से निकलने वाले पानी से अपना पेट भरने के बाद मेरी टाँगों के दरमियाँ में से उठ कर यासिर बिस्तर से उतरा. और विनोद के लंड और मेरी चूत के पानी से भीगे हुए अपने होंठों पर मज़े से अपनी लंबी ज़ुबान फेरते हुए बोला “अब तुम लोग आराम करो और में भी जा कर अपने कमरे में सोता हूँ”

इस से पहले कि विनोद और में यासिर को दूसरे कमरे में जाने से रोक पाते. यासिर ने इधर उधर बिखरे अपने कपड़े समेटे और फिर एक दम कमरे से बाहर निकल गया.

“उफफफफफफफफफफ्फ़ में तो तुम्हारे इस हसीन सेरपे और तुम्हारी तंग और गरम चूत को ही हासिल कर के तुम्हारा दीवाना बन चुका था, मगर यासिर को इतने शौक से मेरे लंड से निकले वीर्य को खाते देख कर में तो यासिर का भी बहुत गेर्वेदा हो चुका हूँ मेरी सायरा बेगम” यासिर के कमरे से बाहर जाते ही विनोद ने मुझे अपनी बाहों में भरते कर मेरे मम्मो को अपने हाथों से मसल्ते हुए ये बात कही. तो विनोद को यूँ मुझे अपनी सायरा बेगम पुकारने पर मेरी चूत में जलती जिन्सी आग एक बार फिर से भड़काने लगी थी.

मैने जोश-ए-जज़्बात में मस्त होते हुए विनोद के होंठों के साथ अपने लब जोड़ दिए.

विनोद और मेरे होंठों का आपस में एक बार फिर मिलाप हुआ. तो मेरे रस भरे लबों से मेरे होंठों का रस चाटने के साथ साथ विनोद के हाथ मेरी गुदाज और भारी चुचियों पर फिसलते हुए मेरी जवानी का मज़ा लेने लगे.

में और विनोद दिन भर की मसरूफ़ियत और फिर ज़ोर दार चुदाई की वजह से काफ़ी थक चुके थे.

इसीलिए कब मुझे और विनोद को नीद आ गई इस बात का हम दोनो को पता ही नही चला और हम दोनो मियाँ बीवी की हैसियत में एक दूसरे की बाहों में सो गये.

आज मेरी ज़िंदगी में ये दूसरा मोका था जब में विनोद के साथ एक ही बिस्तर पर सो रही थी.

विनोद के लंड का मज़ा एक बार फिर हाँसिल करने के बाद मुझे अपना वजूद बहुत हल्का फूलका महसूस हो रहा था.

इसी लिए में दुनिया से बे नायाज़ हो कर अपने नये शौहर विनोद की बाहों में एक पूर सकून नींद के मज़े लेने में मसरूफ़ हो गई थी.

नज़ाने रात का ये कौन सा पहर था. जब अपनी नींद के दौरान मुझे एक ख्वाब आया. कि जेसे में पेट के बल बिस्तर पर उंड़ी (उल्टी) हालत में पड़ी हुई हूँ.

जब कि पीछे से किसी की गरम और नुकीली ज़ुबान तेज़ी के साथ मेरी गरम फुद्दि पर चल रही है. जिस की वजह से मेरे मुँह से सिसकियाँ निकल रही हैं.

ये ख्वाब आते ही मेरी आँखे नींद से एक दम खुद ब खुद ही खुल गई. तो मुझे अहसास हुआ कि जो कुछ में नींद की हालत में महसूस कर रही थी.वो सिर्फ़ एक सपना नही था.

बल्कि में हक़ीकत में अपने पेट के बल बिस्तर पर लेटी हुई थी. और इस दौरान हवा में उठी मेरी गान्ड के दरमियाँ अपना मुँह डाल कर विनोद पीछे से मेरी फुद्दि को चाटने में मसरूफ़ था.



“हाईईईईईईईईईईईईई लगता है तुम्हारा दिल मेरी चूत से अभी भरा नही मेरी जान” विनोद की गरम ज़ुबान को पीछे से अपनी चूत पर चलता हुआ महसूस कर के में सिसकी.

“उफफफफफफफफफफफ्फ़ तुम्हारी चूत और जवानी ऐसी चीज़ नही, जिस से इंसान का दिल एक ही बार में भर जाए, तुम्हारी फुद्दि और गरम जवानी का स्वाद तो में अपनी पूरी ज़िंदगी भी लेता रहूं, तो फिर भी ये कम है मेरी सायरा जानू” मेरी बात के जवाब में विनोद ने ये बात कही. तो अपने हिंदू आशिक़ के मुँह से अपनी मुस्लिम चूत और पाकीज़ा हुश्न की तारीफ सुन कर मेरी फुद्दि एक बार फिर अपना पानी छोड़ने लगी.

कुछ देर मेरी चूत को अपनी ज़ुबान से चोदने और चाटने के बाद विनोद ने मेरी गान्ड को अपने हाथ से थोड़ा मज़ीद उपर की तरफ किया. तो में पेट के बल बिस्तर पर लेटे लेटे एक घोड़ी की तरह बिस्तर पर विनोद के सामने झुकती चली गई.

मुझे इस स्टाइल में बिस्तर पर लेटा कर विनोद भी मेरी टाँगों के दरमियाँ में से उठ कर अपने घुटनों के बल बिस्तर पर मेरे पीछे खड़ा हुआ. और इस के साथ ही उस ने अपने हाथों से मेरी दोनो टांगे को खोल दिया

जिस वजह से मेरी चूत पीछे से उभार कर बाहर को निकल आई. और मेरी फुददी का मुँह पीछे से थोड़ा सा खुल गया.

इस के साथ ही विनोद अपने लंड को हाथ से पकड़ कर मेरी पानी पानी होती हुई चूत पर अपना लंड रख कर रगड़ने लगा. 

“हाईईईईईई क्यों अपनी बीवी की चूत को इस तड़पा रहे हो मेरे साजना, आगे बढ़ो और जल्दी से अपने लौडे को अपनी इस गरम बीवी की प्यासी चूत में डाल भी दो नाआआ मेरे सरताज” विनोद के लौडे का मोटा टोपा अपनी चूत से टच होते हुए महसूस कर के में बे ताब हो गई. और सिसकते हुए अपनी जान विनोद से इल्तिजा करने लगी थी.

सच्ची बात ये थी कि मेरी चूत उस वक्त फिर से बे इंतिहा गरम हो चुकी थी. और मेरी चूत की गर्मी का एलाज़ उस वक्त सिर्फ़ और सिर्फ़ विनोद का मोटा बड़ा लंड ही था.
[url=/>
-  - 
Reply
03-01-2019, 11:27 AM,
#57
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
इधर में अपनी चूत की गरमी की वजह से बे चैन हो कर विनोद से चुदाई की रिक्वेस्ट करने पर तूल गई थी. जब कि दूसरी तरफ विनोद मेरी बेचैनि को देख कर जैसे लुफ्त अंदोज हो रहा था. 

” अच्छा अभी डालता हूँ अपना लंड तुम्हारी इस गरम फुद्दि में मेरी बेगम” विनोद ने अपने मोटे अनकट लंड को मेरी चूत के मुँह पर उपर नीचे फेरते हुए कहा.और इस के साथ ही विनोद ने अपना काला मोटा लंड मेरी चूत में एक ज़बरदस्त झटके के साथ पेल दिया.
मेरी चूत जो ये लंड एक बार फिर अपने अंदर लेने के लिए बेचैन थी. वो भी विनोद के इस अचानक हमले को बर्दास्त नही कर पाई. 

विनोद के इस अचानक और जबर्जस्त झटके से मेरी चूत में होने वाले दर्द की बदोलत मुझे ऐसा महसूस हुआ कि जेसे दो साल से शादी शुदा होने के बावजूद में अब तक कुँवारी थी. और आज मेरी चूत की पहली चुदाई हो रही हो.

मेरे जवान शौहर विनोद का मोटा,लंबा सख़्त लंड ज्यों ही टहलता हुआ एक बार फिर मेरी प्यासी चूत में घुसा.तो मेरी चूत के देने पर लगने वाली विनोद के अनकट टोपे की रगड़ की वजह से मेरी चूत ने फिर अपना पानी छोड़ दिया. 



मेरी फुद्दि का पानी यूँ एक दम छूटने की वजह से ना सिर्फ़ विनोद का सख़्त लंड भी मेरी फुद्दि के पानी से पूरा भीग गया,बल्कि साथ ही साथ मेरी चूत का पानी फुद्दि से बाहर भी निकल कर मेरी सॉफ शॅफॉफ चूत के गुदाज होंठों पर भी बहने लगा था. 

विनोद के झुकते की वजह से मेरे नये शौहर विनोद का जान दार लौडा मेरे गुदाज चुतड़ों से टकराता हुआ ब आसानी मेरी चूत में जड़ तक घुस चुका था. 

“आआआआआआआआआआआअहह,कितना गरम है तुम्हारा लंड,उफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ पूरा डाल दो नाआ, मारो मेरी चूत अपने मोटी लंड से बहुत प्यासी है तुम्हारी बीवी की चूत मेरे प्यारे शौहर जी, डाल दो अंदर मेरे पूराआआआआआआआआ और मुझे अपने बच्चे की माँ बना दो” अपने जानू के लौडे के वार को अपनी चूत पर झेलते हुए में चिल्ला उठी.

मज़े की शिद्दत से मेरे मुँह से ना जाने क्या क्या अल्फ़ाज़ निकलने लगे थे. इस का मुझे खुद भी पता नही चल रहा था. 

और इस के साथ में भी मज़े से अपने भारी चूतड़ उठा उठा कर अपने यार के मोटे लौडे को अपनी चूत के अंदर क़ैद करने में मसरूफ़ हो चुकी थी.

“मेरी जान तुम्हारी प्यासी चूत में अपना पूरा लंड डालने के बाद मुझे तो यूँ महसूस हो रहा है, कि जेसे तुम्हारी ये गरम चूत की ये गर्मी तो मेरे लंड को पिघला कर ही रख देगी ”. मुझे यूँ अपने चूतड़ उठा उठा कर लंड के मज़े लेते देख कर विनोद ने भी पीछे से मेरी चूत को ज़ोर दार धक्कों से चोदते हुए मुझ से कहा.

अब बिस्तर पर लेटने के दौरान मेरी गान्ड उपर उठी हुई थी. और विनोद पीछे से मेरे कंधे पकड़ कर मेरे उपर झुका हुआ मेरी चूत में धक्के पर धक्के मार रहा था

विनोद की चुदाई की वजह से मेरी चूत पीछे से चौड़ी हो गई थी. जिस वजह से विनोद का मोटा,सख़्त,जवान लंबा लौडा अब मेरी चूत की दीवारों को आसानी से छेड़ता हुआ मेरी फुद्दि के अंदर बाहर होने लगा था. 



विनोद के ज़ोर दार धक्कों का स्वाद लेते हुए मैने अपनी चौड़ी गान्ड की पहाड़ियों पर अपने हाथ रखते हुए अपनी चूत को विनोद के मोटे जवान और सख़्त लंड के लिए मज़ीद खोल दिया. 

मेरी खुद सुपुर्दगी के इस अंदाज़ को देखते हुए विनोद मज़ीद जोश में आया. और अब वो अपनी पूरी ताक़त से मेरी फुद्दि में अपने बड़े लंड को पेलने में मशगूल हो चुका था.

मुझे चोदने के दौरान विनोद अब कभी अपने दोनो हाथों से मेरे लटकते हुए बड़े बड़े मम्मो को पकड़ कर उन्हे मसल्ने लगता था. और कभी मेरी कमर और कभी मेरे चूतड़ो को मसल्ते अपना पूरा लंड बाहर निकाल कर मेरी चूत के अंदर पेलने लगता था.

“फ़च,फ़च,फ़च,फ़च,फ़च एयाया एयेए इसस्स्स्सस्स ऊऊऊहह आआहह ऊऊओिईईई ऊऊहह,आआअहह” विनोद की चुदाई की वजह से मज़े के मारे इस तरह की आवाज़े अब पूरे कमरे में गूँज रही थी. 



और इस दौरान में भी पीछे से अपनी गान्ड उपर उठा उठा कर चुदवाते हुए अपने नये शौहर के मज़े दार धक्कों का जवाब देने में मसरूफ़ थी.

“उफफफफफ्फ़ मुझे एक बार ही चोद कर यासिर की तो बस हो जाती है, मगर मेरे असली शौहर यासिर के मुक़ाबले में क्या दमदार मर्द है विनोद, जिस ने पिछली दफ़ा भी रात भर मुझे दो तीन दफ़ा चोदा था, और आज भी एक बार मेरी चूत में अपना पानी निकलने के बाद दुबारा से मेरी फुद्दि का मज़ा लेने और मुझे अपने लंड का मज़ा देने में लगा हुआ है” अपने भारी चूतड़ उपर उचका कर विनोद के अनकट तगड़े लंड को अपनी चूत मे पूरा अंदर लेते हुए मैने सोचा. 

विनोद की इस मज़े दार चुदाई की वजह से मेरा पूरा बदन जवानी की आग में जल रहा था. और एक अजीब सा नशा मेरे सारे वजूद पर इस वक्त छाता जा रहा था.

विनोद के लंबे, मोटे लौडे के दमदार धक्कों से मेरी चूत में मीठा मीठा दर्द हो रहा था. 

मगर इस के बावजूद मुझे ऐसा मज़ा मिल रहा था. जो यासिर से चुदाई के दौरान मुझे कभी नसीब नही हुआ था.
[url=/>
-  - 
Reply
03-01-2019, 11:28 AM,
#58
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
इसी दौरान विनोद को ना जाने किया सूजी के उस ने मेरी चूत को अपने लंड से चोदते चोदते मेरी चौड़ी और मखमली गान्ड के भारी चुतड़ों को अपने हाथ से मज़ीद चौड़ा किया. और मेरी गान्ड के गुलाबी कुंवारे सुराख पर अपनी एक उंगली को रखते हुए मुझ से पूछा “ तुम्हारी इस मस्त गान्ड के छेद को देख कर ऐसे लगता है जेसे यासिर ने तुम्हारी गान्ड की सील अभी तक नही तोड़ी मेरी जान”

“उफफफफफफफफफफफफफ्फ़ विनोद तो वाकई ही औरतों के मामले में एक बहुत ही माहिर खिलाड़ी है, जो मेरी गान्ड के सुराख को देखते ही समझ चुका है, कि यासिर ने मेरी गान्ड को अभी तक नही खोला” विनोद के हाथ की उंगली को अपनी गान्ड के सुराख में घुसते हुए महसूस करते ही मुझे इतना मज़ा आया कि मेरे जिस्म को एक झटका सा लगा. और सिसकते हुए मैने फिर से विनोद के मोटे सख़्त हिंदू लंड पर अपनी मुस्लिम चूत का पानी छोड़ दिया.

“हाआआआआअँ मेरी गान्ड अभी तक कंवारी है मेरी जान” अपनी गान्ड के सुराख पर फिरती हुई विनोद की उंगली के मज़े लेते हुए में आगे को झुकी और सिसकते हुए विनोद की बात का जवाब दिया.

“उफफफफफफफफफफफफफ्फ़ इतनी दिल कश, चौड़ी , गुदाज और मज़े दार गान्ड का मज़ा यासिर ने अभी तक नही चखा ये केसे हो सकता है मेरी जान” मेरी बात के जवाब में मेरे थोड़े थोड़े राउंड शेप के चुतड़ों पर अपना हाथ फेरते हुए हैरत जदा अंदाज़ में विनोद ने मुझ से सवाल किया.

“शायद तुम्हें पता हो या ना हो, कि पठान लोग गान्ड मारने के बहुत ही शोकीन होते हैं, इसी लिया शादी की पहली रात ही से मेरा शौहर यासिर मेरी गान्ड को मारने के लिए मेरी मिन्नतें कर रहा है, मगर मैने आज तक उस की ये बात नही मानी, क्योंकि मुझे गान्ड मरवाने से डर लगता है, लेकिन एक हिसाब से ये तुम्हारे हक में तो बहुत ही अच्छी बात है विनोद” मैने विनोद की बात का जवाब दिया.

“वो केसे जानुउऊुुुुउउ” विनोद ने मेरी बात का मतल्ब ना समझते हुए फिर पूछा.

“वो ऐसे मेरी जान कि सुहाग की रात को हर शौहर अपनी बीवी की कंवारी चूत की सील तोड़ कर अपनी बीवी के साथ अपनी शादी शुदा ज़िंदगी का आगाज़ करता है,मगर चूँकि यासिर तो मेरी चूत की सील पहले ही तोड़ चुका है,इसीलिए में अपनी ये कंवारी गान्ड आज तुम्हें अपनी सुहाग रात के तोहफे की शकल में पेश कर के ,तुम्हारे लंड से अपनी गान्ड की सील खुलवाना चाहती हूँ, और अपनी दूसरी शादी की सुहाग रात को अपनी गान्ड तुम से पहली बार चुदवा कर तुम्हारे साथ अपनी सुहाग रात का मज़ा दुगुना करनी चाहती हूँ मेरे पति परमेश्वर जी” अपनी गान्ड के उपर चलती हुई विनोद के हाथ की उंगली के मज़े से ही में इतना बे हाल हो चुकी थी. कि अब में विनोद के लौडे का मज़ा अपनी गान्ड में लेने पर अपने आप ही आमादा हो गई. और इसी लिए अपनी चूत में फुल स्पीड में दौड़ते हुए विनोद के लंड के मज़े को महसूस कर के बे शरमाई से मैने ये बात अपने मुँह से निकाल दी. 

ये हक़ीकत थी कि शादी के पहले दिन से ही मेरा असल शौहर यासिर मेरी गान्ड मारने के चक्कर में मुझे राज़ी करने की कोशिश कर रहा था. 

मगर अपनी दो साला शादी शुदा जिंदगी के दौरान मैने यासिर को कभी अपनी गान्ड के नज़दीक आने की इजाज़त नही दी थी. 

लेकिन विनोद के अनकट मोटे और बड़े लंड ने मेरी फुद्दि को चोद कर जो लज़्जत मुझे दी थी. और उस अनकट लंड ने मेरी फुददी में वो आग लगी थी. 

ये उसी मज़े और जिन्सी हवस का असर था. कि चूत के साथ साथ अब में अपने इंडियन हिंदू यार को अपनी बड़ी और चौड़ी कंवारी पाकिस्तानी गान्ड भी पेश करने पर तूल चुकी थी.

“ओह सच पूछो तो मैने जब दुबई एरपोर्ट पर पहली दफ़ा तुम्हें देखा था, तो उसी दिन से ही में तुम्हारी इस चौड़ी और उठी हुई गान्ड का आशिक़ हो गया था, और उस दिन से आज तक ना जाने कितनी दफ़ा में अपने ख्वाबों में तुम्हारी इस भारी गान्ड के मज़े लिए हैं,और आज तो अपने लंड से तुम्हारी गान्ड की सील खोल कर ना सिर्फ़ में अपने इन ख्वाबों को हक़ीकत का रूप दूँगा, बल्कि में अपने आप को इस दुनाया का सब से खुश किस्मत इंसान महसूस करूँगा मेरी जान”



विनोद ने अपने हाथ के अंगूठे को मेरी सील बंद गान्ड के सुराख के ऐन उपर ज़ोर से दबाते हुए मुझ से ये बात कही. तो में विनोद की बात और उस के मोटे उंगुठे को अपनी गान्ड के सुदख पर महसूस करते हुए में अपनी गान्ड को ज़ोर से विनोद के लंड पर मारने लगी थी.

इस के साथ ही विनोद ने मेरी चूत के रस में भीगा हुआ अपना लंड एक दम खैंच कर बाहर निकाला.और मेरी कमर पर अपने होंठ रख कर पीछे से मेरे शोल्डर और कमर को आहिस्ता आहिस्ता किस करना शुरू कर दिया. 

विनोद की ज़ुबान आहिस्ता आहिस्ता मेरी कमर पर चलती हुई मेरी थल थल करती गान्ड की भारी पहाड़ियो तक आन पहुँची.

विनोद के प्यासे होंठ ज्यों ही मेरी कमर से फिसलते हुए मेरी गान्ड की गोलाईयों तक आई. 

तो विनोद तो जैसे मेरी गुदाज गान्ड को देख कर पागल और मेरी गान्ड की भीबी भीनी खुसबू को सूंघ कर जैसे मदहोश हो गया.

“ओह क्या पागल कर देने वाली मस्त और खुसबु दार महाक है तुम्हारी इस कंवारी गान्ड की मेरी जान” मेरी गान्ड के आन उपर चूमते और मेरी गान्ड की बू को अपनी नाक के नथुनो से सूंघते हुए विनोद ने अपने हाथों से मेरी बड़ी गान्ड की पहाड़ियो को खोला. 



और फिर एक दम अपनी लंबी ज़ुबान को अपने मुँह से निकाल कर मेरी गान्ड के कंवारे सुराख को हल्का से चूम लिया.

“ओह विनॉद्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्दद्ड” अपने नये शौहर की नुकीली गरम ज़ुबान को अपनी गान्ड के सुराख से टच होते ही मैने मज़े के साथ एक सिसकी भरी.



और अपनी भारी और चौड़ी गान्ड को पीछे से एक दम उपर उठा दिया. तो विनोद का मुँह मेरी गान्ड की चौड़ी पहाड़ियों में एक दम फँस कर रह गया.

“उफफफफफफफफफफफफफ्फ़ तुम्हारी इस कंवारी गान्ड से निकलने वाली इस खुसबू ने मुझे अपने दीवाना बना लिया है सायरा” मेरी गान्ड की पहाड़ियों में डॅन्स अपने मुँह को मेरी गान्ड के सुराख पर फेरते हुए विनोद ने कहा. और अपने गरम होंठ मेरी गान्ड के सुराख पर रख कर मेरी गान्ड की ब्राउन मोरी को अपनी ज़ुबान से चाटने लगा.

विनोद ने मदहोशी के आलम में अपने गरम होंठों के साथ मेरी गान्ड को बे सखता और बे तहाशा चूमना शुरू कर दिया. 

मेरी गान्ड को चूमते हुए विनोद अब मेरी गान्ड से ले कर चूत की दरार तक अपनी गरम और नुकीली ज़ुबान को फेरने में लग गया था. और अपनी चूत से गान्ड तक चलती हुई विनोद की ज़ुबान के कारण में मज़े से बे हाल हो रही थी.
[url=/>
-  - 
Reply
03-01-2019, 11:28 AM,
#59
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
मैने चूँकि यासिर को अपनी गान्ड कभी नही मारने दी थी. इसीलिए गान्ड को चाटने का काम करना तो दर किनार यासिर ने तो शायद मेरी गान्ड को चाटने के बारे में कभी सोचा तक नही था.

इसीलिए अपनी गान्ड से इस तरह किसी मर्द का पूर जोश प्यार करने का ये तजुर्बा मेरे लिए बिल्कुल नया था.

विनोद की ज़ुबान में एक जादू था. इसी लिए जब उस की ज़ुबान मेरी चूत से होते हुए मेरी कंवारी गान्ड के छेद के उपर से गुज़रती तो मज़े की शिद्दत से में काँप जाती.

मुझे अपने नये शौहर विनोद की इस हरकत से बहुत मज़ा आ रहा था. और में लज़्ज़त के मारे सिसकारियाँ लेने लगी. उूुुुुउउफफफफफफफफफफफफफ्फ़ आआआआआआआआअहह.

मेरा नया शौहर पहली रात की तरह आज फिर मुझे चुदाई के मज़े की एक नई दुनाया से पर्चित करवाने में मसरूफ़ था. 



और उसी मज़े को पा कर में बिस्तर के तकिये में अपने मुँह दबा कर सिसकियाँ लिए जा रही थी.

कुछ देर मेरी गान्ड को चाट चाट कर विनोद ने मेरी गान्ड के सुराख को पूरा गीला कर दिया.

मेरी गान्ड को अपने मोटे लंड के लिए अच्छी तरह से तैयार करने के बाद विनोद ने मेरी गान्ड से अपना मुँह अलग किया. और फिर खुद थोड़ा उपर उठ कर साथ ही मेरी कमर में भी हाथ डाला और मेरी गान्ड को भी पीछे से थोड़ा उपर उठा लिया.

इस तरह बिस्तर पर लेटने से मेरी गुदाज और भारी चुचियाँ आगे से बिस्तर के गद्दे में धँसी.

तो पीछे से मेरी गान्ड पूरी तरह से हवा में उठ कर उपर की तरफ हो गई थी.

मेरी गान्ड को इस तरह अपने सामने पूरी तरह खोलते हुए विनोद ने अपने मोटे लंड को अपने हाथ में थामा. और फिर पीछे से एक दम मेरी गान्ड के कंवारे सुराख के ऐन उपर थूक कर पहले से गीली मेरी गान्ड को अपने थूक से मज़ीद तर कर दिया.

विनोद की इस हरकत से में समझ गई कि अब मेरा नया हिंदू शौहर अपनी मुसलमान बीवी की कंवारी गान्ड के छेद को अपने अनकट लौडे से खोलाने के लिए बिल्कुल तैयार हो चुका है.



अपने जानू विनोद के इरादे को अच्छी तरह से भाँपते हुए मैने भी अपने दोनो हाथों को पीछे ले जा कर अपनी चौड़ी गान्ड की गुदाज पहाड़ियों को अपने हिंदू सनम के जान दार और तगड़े लंड का इस्तक्बाल करने के पूरी तरह से खोल दिया.

मुझे यूँ अपने हाथों से अपनी गान्ड की पहाड़ियों खोलते देख कर विनोद मेरे नज़दीक आया.



और उस ने अपने लंड का मोटा अनकट टोपा अपने थूक से भरी मेरी कंवारी गान्ड के ब्राउन सुराख के ऐन उपर टिका दिया.

विनोद के मोटे लंबे और सख़्त अनकट हिंदू लौडे को अपनी गान्ड के सुराख से पहली बार टच होते हुए महसूस कर के मेरी तो साँस ही मेरे गले मे अटक गई.और में अपनी साँस रोके आने वाले अगले पल का इंटिजार करने लगी थी.

इस से पहले के में कुछ समझ पाती विनोद ने एक दम से अपना मस्त लंड मेरी गान्ड के गीले सुराख पर रख कर एक ज़ोरदार झटका मारा.



तो विनोद के लंड का मोटा टोपा जो कि मेरी चूत के पानी की वजह से पहले ही बहुत चिकना हो चुका था. 

वो मेरी गीली गान्ड की कंवारी दीवारों को चीरता हुआ मेरी गान्ड के अंदर घुस गया. 

“हाईईईईईईईईईईईईईई मेन्ंनननननननणणन् मर गैिईईईईईईईईईईईईईईईईई” विनोद के सख़्त लौडे के इतने ज़ोरदार धक्कों को महसूस करते हुए मेरे मुँह से बे इकतियार एक चीख निकली.



और में विनोद के लंड के धक्के के ज़ोर से बिस्तर पर गिर गई. 

विनोद के मोटे टोपे के मेरी गान्ड में घुसते ही घुड़ाप की तेज आवाज़ मेरी गान्ड से निकली. 

तो मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी गान्ड के अंदर कुछ फॅट गया था.इस के साथ ही विनोद के मोटे अनकट लौडे ने मेरी कंवारी गान्ड की सील तोड़ दी.

विनोद का लंड मेरी गान्ड में घुसने की वजह से मुझे इतना शदीद दर्द हुआ और में इतने ज़ोर से चीखी थी. कि विनोद का घर तो घर मेरी चीख की आवाज़ शायद उस पूरे एरिया में पहुँच गई होगी. 

अपनी कंवारी गान्ड में पेदा होने वाला ये दर्द मुझ से सहा नही जा रहा था. और मुझे यूँ महसूस हुआ कि जेसे पीछे से मेरी गान्ड का छेद बुरी तरह चोदा हो गया हो.

जिस की वजह से मेरी आँखों मे आँसू आ गये थे. और दर्द की शिद्दत से कराहते हुए मैने अपनी आँखे बंद कर ली.

इस से पहले कि में संभाल पाती .विनोद ने फिर एक ज़ोरदार धक्का मारा और उस का लंड चन्द इंच मज़ीद मेरी कंवारी गान्ड में घुसता चला गया 

“आआआआआअ ऊऊऊऊऊऊ,ईईईईईईईईईईईईई,मम्माआआअ बस करो विनोद आहह,छोड़ दो मुझे ,उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ तुम्हारे इस मोटे लौडे ने तो मेरी शादी शुदा चूत का कचूमार निकाल दिया है,तो अब तुम्हारा ये गधे जेसा लौडा मेरी इस मासूम कंवारी गान्ड की हालत ही बिगाड़ देगा ,में और नहीं झेल सकती, प्लीज़ में तुम्हारे हाथ जोड़ती हूँ,आआहह निकाल लो”दर्द के मारे चिल्लाते हुए मैने अपने हाथों में अपने सुहाग के बिस्तर की चादर को ज़ोर से पकड़ा.और साथ ही साथ अपने शौहर विनोद की मिन्नतें करने लग गई.

“आख़िर इतना लंबा चौड़ा और मोटा लंड कैसे किसी औरत की गान्ड मे जा सकता है, ये तो मुझे पहले सोचना चाहिए था” मगर अपने जिस्म की जिन्सी भूक के आगे मजबूर हो कर मैने विनोद को अपनी कंवारी गान्ड की सील खोलने की दावत तो दे दी थी. 

मगर अब विनोद के लौडे को अपनी गान्ड में घुसते हुए महसूस कर के मुझे पूरा यकीन हो चुका था. कि में विनोद के गधे जेसे मोटे लंड को अपनी छोटी सी मासूम गान्ड में नही ले पाउन्गी.

अपनी गान्ड में इतना मोटा लंड पहली दफ़ा लेने दर्द की वजह से मेर बुरा हाल हो चुका था.और मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मेरी गान्ड का छेद फॅट चुका हो.

मगर विनोद कब रुकने वाला था.वो तो लगता था कि शायद गान्ड चोदने वाला एक पुराना खिलाड़ी है.
[url=/>
-  - 
Reply

03-01-2019, 11:28 AM,
#60
RE: Hindi Sex Kahaniya हाईईईईईईई में चुद गई दु�...
“ओूऊऊ सायरा तुम्हारी गान्ड बहुत ही टाइट है, इस की वजह से तुम्हें शुरू में यक़ीनन थोड़ी तकलीफ़ हो गी, मगर एक बार अपनी गान्ड मरवा लेने के बाद तुम्हें ऐसा मज़ा मिलेगा कि तुम अपना सारा दर्द भूल जाओ गी मेरी जान”ये कहते हुए विनोद ने गान्ड के उपर ज़ोर से थप्पड़ मारते हुए मेरे चुतड़ों को अपने हाथ में दबोच कर मेरी गान्ड को दुबारा उपर किया.

इस के साथ ही विनोद ने मेरी गान्ड में बुरी तरह से फँसाए हुए अपने लंड को गान्ड से थोड़ा सा बाहर निकाला. और फिर उसी तेज़ी से दोबारा झटका मार कर अपने लंड को दुबारा मेरी गान्ड में पेल दिया.

में दुबारा चीखती हुई बिस्तर से उठी तो मेरी कमर विनोद की सख़्त जवान छाती से टकराई. 

दर्द की शिद्दत से घबराते हुए मैने बे इख्तियारी में अपने पीछे खड़े विनोद की गान्ड को ज़ोर से अपने हाथों में थाम कर विनोद के जिस्म के साथ अपने जिस्म चिपकाया.



तो इस के साथ ही मेरी गान्ड की भारी थल तल केरती पहाड़ियों में से टहलते हुए विनोद का मोटा लौडा जड़ तक मेरी गान्ड के अंदर फिसलता चला गया.

ज्यों ही विनोद का लंबा, मोटा अनकट लौडा मेरी गान्ड को पूरी ताक़त से खोलते हुए मेरी गान्ड में पूरा घुसा . 

तो विनोद ने पीछे से मेरे कान में सेरगोशी की “तुम्हारी पाकिस्तानी गान्ड की सील मेरे इंडियन लौडे ने खोल दी है, मुबारक हो मेरी जान सायरा” ये कहते हुए विनोद ने अपने लंड को फिर थोड़ा पीछे खैंचते हुए दुबारा से धक्का मारा.

तो में पेट के बल दुबारा से अपने बिस्तर पर गिर गई और फिर विनोद मेरी चीखो की परवाह किए बगैर बे दरदी से मेरी गान्ड को चोदने में मसरूफ़ हो गया.

विनोद के ज़ोर दार धक्कों की बदौलत मेरी गान्ड में दर्द की शदीद टीन्से उठने लगी थी. 



मगर विनोद मेरी चीखों की परवा किए बगैर एक जंगली सांड की तरह मेरे उपर चढ़ कर मेरी गान्ड चोदने में लग चुका था.

अपने नये शौहर से अपनी गान्ड मरवाने के दौरान मुझे जितनी तकलीफ़ हो रही थी. इतनी तकलीफ़ तो यासिर से पहली बार अपनी कंवारी चूत की सील तुड़वाते हुए भी मुझे नही महसूस हुई थी. 

और अपनी गान्ड में होने वाले इस दर्द की वजह से मेरे बदन का रोया रोया काँप रहा था और मेरा पूरा बदन पसीने से भीग गया था.

“मुझे चाहिए कि विनोद के आगे से हट कर अपनी गान्ड से इस सख़्त लंड को निकाल दूं” मेरे रोकने के बावजूद जब विनोद ने मेरी गान्ड मारने का काम जारी रखा तो मेरे दिल में ये ख्याल आया.

“हाईईईईईईईईईईईईईईईई इसीईईईईईईई अनकट लौडे के मज़े को हासिल करने के लिए ही तो मैने अपना नाज़ुक बदन, अपनी चूत और अपनी इज़्ज़त दाँव पर लगाई थी,और अब जब इस अनकट लौडे का मज़ा मुझे नसीब हो रहा है तो मुझे इस मज़े को एंजाय करना चाहिए,क्योंकि इस दुनिया में ऐसी खुश नसीब औरते कम ही होती हों गी, जिन को इतना मोटा सख़्त और जान दार लंड से चुदवाने का मोका मिलता हो गा”पहले ख्याल के ज़हन में आते साथ ही दूसरे ही लम्हे एक नया ख्याल मेरे दिमाग़ में आया. 

तो एक दम से मुझे अपनी गान्ड में दर्द कम सा महसूस होने लगा. और दर्द की तकलीफ़ कम होने के साथ ही मुझे पहली दफ़ा अपनी गान्ड को मरवाने में भी मज़ा आने लगा.

इसी लिए मैने अब एक बार फिर बिस्तर पर पेट के बल लेटते हुए अपनी गान्ड को अपने हाथों से खोलते हुए विनोद के लंड पर ज़ोर से मारा. और अपने नये शौहर विनोद से बे शरमाई से पूछने लगी “केसी लगी मेरी कंवारी पाकिस्तानी गान्ड की आराम गाह मेरे हिंदू सनम के अनकट लौडे को मेरी जान”
“उफफफफफफफफफ्फ़ लगता है कि तुम्हारी चूत के साथ साथ तुम्हारी ये गुदाज गान्ड भी सिर्फ़ मेरे लौडे के लिए बनी है,क्योंकि तुम्हारी ये चिकनी मुलायम भारी जवान मुस्लिम गान्ड ही वो जगह है, जहाँ अब मेरे हिंदू लंड को सकून मिल सकता है मेरी रानी”ये कहते हुए विनोद ने मेरी गान्ड से अपना आधा लौडा निकाला और फिर झटके से मेरी गान्ड में अपना लंड डाल दिया.

“उफफफफफफफफफफफ्फ़ तो अब इंतेज़ार किस बात का, मेरी गान्ड का दरवाज़ा तो तुम तोड़ ही चुके हो,अब मेरी गान्ड की वादी में अपना आना जाना जारी रखो और मेरी चूत की तरह मेरी गान्ड को भी अपना गुलाम बना लो मेरे हिंदू राजा”कहते हुए में भी अपनी चौड़ी गान्ड को पीछे धकेलते हुए विनोद के मोटे ताज़े जवान लंड को अपनी गान्ड की गहराई में खुशामदीद कहने लगी थी.

मेरी और विनोद की ज़ोर दार चुदाई की वजह से पूरे कमरे में मेरी और विनोद की लज़्ज़त भरी तेज चीखे गूँज रहीं थी. “आआहह उूुुउउफफफफफ्फ़ ऊउीईईईई माआईयईईईईईईन्न्नणणन् म्माआररर्र्र्ररर गगगैइिईईईईईईई उूुुउउफफफफ्फ़ विनोद आप बहुत अच्छी चुदाई करते हैं आअहह मुझे बहुत मज़ा आ रहा है”

विनोद ने जब देखा कि में अब अपनी गान्ड की चुदाई को एंजाय करने लगी हूँ. तो उस ने भी और भी तेज झटके मेरी गान्ड में मारना शुरू कर दिए. 

विनोद के ज़ोरदार घससों की बदौलत मेरी छाती से लटकते मेरे बड़े बड़े मम्मे बुरी तरह हिल हिल और उछल उछल कर मेरे बिस्तर के गद्दे के साथ रगड़ खा रहे थे.जिस की वजह से मेरे मम्मो के निपल्स मजीद अकड कर खड़े हो गये थे.

और फिर वो वक्त आ ही गया जब विनोद ने अपने लंड का सफेद पानी मेरी गान्ड की वादियों में उडेल दिया.

मेरी गान्ड मेरे नये शौहर विनोद के लौडे के थिक पानी से पूरी की पूरी भर गई. 



तो विनोद के लंड का पानी क़तरा क़तरा कर के मेरी गान्ड से बाहर निकल कर मेरी रानो पर बहने लगा.

इतनी ज़ोर दार चुदाई के बाद हम दोनो प्रेमी जोड़ा पसीना पसीना जिस्मो के साथ बिस्तर पर एक दूसरे के उपर पड़े बुरी तरह हाँफ रहे थे.

थोड़ी देर साँस लेने के बाद विनोद ने अपना ढीला पड़ता लंड मेरी गान्ड से बाहर निकाला और बिस्तर पर मेरे बराबर लेट गया.

अब में कमरे में बिस्तर पर अपने नये शौहर के साथ लेटी हुई उस की छाती के बालों में अपनी उंगलियाँ फेर रही थी. 

जब कि विनोद अपनी नई बीवी के बड़े बड़े मम्मो और तने हुए निपल्स के साथ खेलने में मशगूल था.
[url=/>
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star अन्तर्वासना - मोल की एक औरत 66 33,742 07-03-2020, 01:28 PM
Last Post:
  चूतो का समुंदर 663 2,268,930 07-01-2020, 11:59 PM
Last Post:
Star Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास 131 96,001 06-29-2020, 05:17 PM
Last Post:
Star Hindi Porn Story खेल खेल में गंदी बात 34 40,108 06-28-2020, 02:20 PM
Last Post:
Star Free Sex kahani आशा...(एक ड्रीमलेडी ) 24 22,083 06-28-2020, 02:02 PM
Last Post:
Star Incest Porn Kahani चुदाई घर बार की 49 204,573 06-28-2020, 01:18 AM
Last Post:
Exclamation Maa Chudai Kahani आखिर मा चुद ही गई 39 310,844 06-27-2020, 12:19 AM
Last Post:
Star Incest Kahani परिवार(दि फैमिली) 662 2,352,230 06-27-2020, 12:13 AM
Last Post:
  Hindi Kamuk Kahani एक खून और 60 22,395 06-25-2020, 02:04 PM
Last Post:
  XXX Kahani Sarhad ke paar 76 68,913 06-25-2020, 11:45 AM
Last Post:



Users browsing this thread: 1 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.

Online porn video at mobile phone


Xxx sex बाई के सामने मूठ मारन साडी dassi mom sexey videos .com 552पुचची त बुलला sex xxxVarshini sounderajan bf photosseshtar brabar xxx nxxnx fakShavita bhama comic sex picturesgirl or girls keise finger fukc karte hai kahani downlodMaa ke sath didi ko bhi choda xbombo.comलडकियो ओर कुतो कि चुदाय कि WWWXXXBrowser full HD sexy videos moti moti girl ki chut mein pelte Hue dikhaiyechalakti train mein jabardasti sexyAmma to porn vedio chudatam kamakataJaber jastiSasur ne bahu choda xnxxnenu venaka nundi aaninchanu mom sex storyaanti ki mst chudai/Thread-maa-ka-khayalwww.sexbabapunjabi.netbhag bhosidee adhee aaiey vido combete ka aujar chudai sexbabaxxxzx.manciyseIndian saas ki chudaj videoसोनपुर मेला में ससुर बहु सेक्स हिंदी Telugu plumber by desi52.combigboobasphotoHeroen.sexsa.kahane.hinde.sex.baba.net.goa girl hot boobs photos sexbaba.netXxxbftamanna And Kajal AgarwalPatni roj dudpilati he pati ko xxnxबायकोच्या भावाची बायको sexMousi ke gand me tail laga kar land dalaGoddess sonarika nude pm fakesSuoht all Tv acatares xxx nude sexBaba.net peshabxxxvvvwww.xnxx.tv/search/sangita nindme%20fuckरिक्शा वाले से चुदाइ कथाDance ke bahane chudai karvai sexstorry hindiwww.chudai kahani hindiशोभा काकुला झवलोSanya.tv.ac.ki.nangi.sex.fake.photo.husband ne bibi ko sex kiye vo bhi jians khol ke bedroom mesexx.com. dadi maa ki mast chudi story. sexbabanet hindi.didi ki chut markar pani xxx hd sex pornभिकारी ने जबरदस्ती किया सेक्स नुदे वीडियोस very hairy desi babe jyotianterwasna sax kalli chut ki Sikh got I chut ki hewesmaldar anti ne nokar se chudai karai hindi kahaniMausi aur bhagna newsexstoryxexyphotonew2019Tv सीरियल की हिरोइन को चोदा हिंदी सेक्स कहानीअनना पांडे हिरोईन कि xxx फोटौशादीशुदा को दों बुढ्ढों ने मिलकर मुझे चोदाindian bhabi nahati hui ka chori bania videoHoli per randiyo ki chudai storyबाथरूम मुझे भगवान मुझे baithakar chuchi माली bhabji koओन्ली लेडिस लेडीस की चुदायि xxxब्लाउज मेसे नीकले हुवे मम्मे कि फोटोxxnxx net hindi land chusnewalaamina ki chot phar dima ke sath suhagjivan hindi sex kahaniwww xxx joban daba kaer coda hinde xxxsasur kamina bahu naginama ne kusti sikhai chootbhaiya ko apne husn se tadpaya aur sexdeshi khet ma xhudai mama bhanjeeSexstorinew2019hot hindi sex storiy and nangi imagesKuwari ladke ki cut cheodai kahannya hinde meGhaliya de de kar sax karne ki kahaniya hindi m btao south singers anchors fakeभाभी ने मुझे रँडी बना दिया चुदवाके कहानियाsubscribe and get velamma free 18 xxxxx radSexbaba maa beta ke wild chudaiताठ लवडाsavita bhabhi episode 97 read onlineChodwakar ma bane sex story अनजान लडकी ने लँड चुसा कहानीDasisaree chotkamukta.com kacchi tod lavelarki chodna story xnxxMele ki naachne wali ladki ki x** video bfx nxx baba jee ne aanso nikal deaHiNDI ME BOOR ME LAND DALKA BATKARTAhum kirayedar ki biwi meri maa kirayedar chudai ki kahanidesi Aunti Ass xosip PhotoAdme orat banta hai xxxlanka woman jangal me kase chudateGandivar fatke marun gand Mari xxx HD videodiksa sat xxx photoगोरी चुत बिडियो दिखयेमेरे घर में चूतों का मेला sexbabaRomba xxx vediowww sex indian पंडित टट्टी video hdxvideo hdpayal pahni anti xxx chudai h dमस्तराम शमले सेक्स स्टोरीrajsharmastoryhindisree mukhi fuckingmage HD